छत्तीसगढ़ के बस्तर में दिखा UFO ? Latest UFO sighting in India with English translation.

 Thursday, January 12, 2017

य़ूएफओ

कांकेर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के कांकेर के पास मंगलवार सुबह उड़न तश्तरी देखने दावा किया जा रहा है. मंगलवार की सुबह कांकेर से 18 किलोमीटर दूर कोदागांव के लोगों का कहना है कि सुबह के समय तेज आवाज करती हुई एक गोल सी चीज उड़ती दिखी थी जो कुछ ही समय बाद गायब हो गई. मंगलवार दिनभर गांव में इसी की चर्चा होती रही. कोदागांव के लोगों का कहना है कि सुबह के 4 बजे के आसपास उन्हें यह उड़न तश्तरी के समान चीज दिखाई दी थी.

गांव की 55 साल की देवबती अधिया का कहना है कि वह सुबह के समय आंगन में अंगीठी जला रही थी उसी समय उसने आकाश में गोल चमकदार चीज देखी जो तेजी से उड़ रही थी. कई और लोगों ने उसी समय तेज आवाज के साथ बादल के गरजने के समान आवाज सुनी तथा उस समय तेज हवा चलने लगी थी. धूल उड़ रहा था, बाहर धुंध छाई हुई थी लेकिन कुछ दिखाई नहीं दे रहा था.

सुलोचना नेताम ने कहा कि तेज आवाज के कारण उसकी मुर्गियों ने शोर मचाना शुरु कर दिया था इसलिये उसकी नींद खुली. बाहर तेज हवा चल रही थी तथा धूल के गुबार में कुछ दिखाई नहीं दे रहा था.

गौरतलब है कि दुनिया के कई देशों में यदाकदा उड़नतश्तरी देखे जाने के दावे होते रहे हैं. ऐसा माना जाता है कि किसी दूसरे ग्रह से आने वाली उड़नतश्तरी पृथ्वी पर टोह लेने आती है तथा चली जाती है. इसी के साथ दूसरे ग्रह पर जीवित सभ्यता के होने कयास लगाये जाते रहे हैं.

वैज्ञानिकों का भी मानना है कि दूसरे ग्रह में जीवन की संभावना है तथा उड़नतश्तरी जैसी किसी चीज का अस्तित्व हो सकता है. इसे यूएफओ याने अनआइडेंटिफाइड फ्लांइग आब्जेक्ट कहा जाता है.

इस बात के दावे भी किये जाते हैं कि जब पहली बार अमरीकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग चंद्रमा पर गये थे तो वहां पर दिगर ग्रह के लोग उपस्थित थे. उसके बाद से अमरीका ने चंद्रमा पर खोज बंद कर दी थी. लेकिन छत्तीसगढ़ के बस्तर में ऐसा पहली बार सुनने में आ रहा है कि उड़नतश्तरी जैसी कोई चीज दिखी थी.

हालांकि, किसी तरह के चक्रवात की आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता जिसे उड़नतश्तरी समझा जा रहा हो. ऐसा माना जाता है कि जहां पर उड़नतश्तरी एक बार दिखती है वहीं पर बाद में भी देखी जाती है. क्या कांकेर के पास के गांव में सही में मंगलवार सुबह कोई उड़नतश्तरी आई थी इसका जवाब समय तथा विज्ञान के पास ही है.

English translation :

Thursday, january 11, 2017

 

य़ूएफओ
Kanker | Reporter: Kanker in Chhattisgarh on Tuesday morning to see the flying saucer being claimed. Tuesday morning, 18 km from the district Kodaganv people say that in the morning there was a loud round thing which was missing shortly after flying vanished. In the village there was the discussion of the day Tuesday. Kodaganv people say around 4 am that morning he had seen something like this flying saucer.

55 years old women Devbti of the village say that he was burning brazier in the courtyard in the morning then he saw something shiny in the sky round it was flying fast. Many people at that time of the cloud with a thud like thunder was heard and then high winds. Dust was flying out the mist had descended but did not see anything.

Sulochana Netam said loud calls his hens began to make a noise so he woke. There was a strong wind and dust out of the dust did not see anything.

The world, in many countries there have been occasional claims to be viewed Udntshtri (UFO’s). It is believed to come from another planet that comes and goes Udntshtri earth reconnaissance. With this being the second of civilization alive on the planet are not speculation.

Scientists also believe that the possibility of life in other planets and Udntshtri ( UFO’s) existence of any such thing as can be. Ie it is called Unidentified Flying UFO object .

There are also claims that the American astronaut Neil Armstrong on the moon for the first time there were people on the planet were present there. Since then, the US had stopped looking at the moon. But for the first time in Chhattisgarh’s Bastar hearing that there was no such thing as Udntshtri(UFO).

However, one can dismiss the possibility of the cyclone, which is being considered a UFO. It is believed that once there is a UFO then it is witnessed multiple times at the same place.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *